Other News

Malgudi Days TV Serial

Malgudi Days TV Serial

Do you remember watching Malgudi Days, eons ago, when Doordarshan was the only source of entertainment and television synonymous with limited dose of Chitrahar and a Sunday Movie? Well, the choices were limited and perhaps we were so devoid of options that we hurriedly devored, whatever Doordarshan decided to shower […]

by June 20, 2018 Articles
Kavita Kaise Likhen Part 2

Kavita Kaise Likhen Part 2

कविता लिखते हुए बिम्ब और अलंकार, बहुत मायने रखते हैं.. क्या होते हैं ये और इन्हें किस तरह प्रयोग किया जाए, देखिए मेरे नए वीडियो कविता कैसे लिखें पार्ट 2 में.. वहीं मेरे शब्द मेरे साथ में 🙂 ध्वनि सूचक शब्द, कविता में भाव प्रेषित करने का सरलतम उपाय है […]

by June 14, 2018 Articles
इंसानियत

इंसानियत

घर जाते हुए अचानक दो औरतें, रिक्शे के सामने आ गईं.. चेहरे घूंघट से ढके, एक हाथ में बच्चा लिए बेतहाशा भागती.. पहली बात जो दिमाग में कौंधी, वो यही कि शायद मुसीबत में हों, कोई अपना बीमार होगा.. अस्पताल के आसपास ऐसे दृश्य देखकर अमूमन यही बात, सबसे पहले […]

by June 12, 2018 Kuch Panne
1000 subscribers on Mere Shabd Mere Saath

1000 subscribers on Mere Shabd Mere Saath

लगभग 9 महीने पहले, “मेरे शब्द मेरे साथ” के नाम से अपना youtube चैनल शुरू किया था.. शब्द संसार रचने का जुनून मेरा और शूटिंग से लेकर एडिटिंग तक का भारी भरकम काम, भाई Yogesh Sarkar का 😀 मेरे लिए लेखन के मायने, मन की बात मन से कह देना […]

by June 7, 2018 Editors Desk, Events
Kavita kaise likhen 1

Kavita kaise likhen 1

कविता लिखना शौक है, पैशन है, मन की अभिव्यक्ति है.. और बहुत से अनछुए, अनकहे पहलू भी समेटे है.. इन्हीं बातों पर एक नज़र मेरी नयी वीडियो सीरीज़ कविता कैसे लिखें में.. कविता कैसे लिखें पार्ट 1 कविता लेखन से जुड़े गुर.. भाषा का चुनाव और उसकी बारीकियों का विश्लेषण.. […]

by June 4, 2018 Articles
इश्क़ में शहर होना, रवीश कुमार

इश्क़ में शहर होना, रवीश कुमार

कल किंडल पर अचानक नज़रेंं जा टिकीं, इक छोटी सी किताब पर.. महज़ 90 पेज में लिखी एक फेसबुक फिक्शन.. लप्रेक विधा में शहरी मुहब्बत का नमक समेटे रवीश कुमार की “इश्क़ में शहर होना”, मेरी स्क्रीन पर इठला रही थी.. और मैं अनायास ही जा पहुंची थी यादों के […]

by May 25, 2018 Review
तूफान

तूफान

एक दोस्त की कविता पढ़ी और मन में कुछ दिन पहले की याद ताज़ा हो अाई.. पिछले दिनों दिल्ली में बहुत ज़ोर से आंधी तूफान आता रहा, ओलों और बहुत तेज़ हवा से घबराहट हो रही थी मुझे.. पर अचानक आंगन में गुलाब का फूल देखा, हवा के थपेड़े सहता.. […]

by May 24, 2018 Kuch Panne
My Poem on Nation Live Channel

My Poem on Nation Live Channel

इस रविवार को Nation Live IPTV लॉन्च किया गया.. इस नए चैनल में खबरों के साथ साथ साहित्य पर भी ज़ोर दिया जाएगा.. Dhananjay Kumar Singh जी और Santosh Patel जी को इस नवीन प्रयोग के लिए साधुवाद 🙂 इस चैनल के लिए मेरी भी कुछ कविताएं रिकॉर्ड की गई […]

by May 24, 2018 Recital