Other News

Lust or Love

Lust or Love

Women often mistake Men’s Lust as Love He praises her beauty Caresses her tresses Showers kisses Each and every action Screams physical attention And yet the woman, stupidly Misunderstands it as Love She cares, She worries She dares, She hurries She is neck deep in love Her bosom may excite […]

by June 14, 2019 Poetry
गिरीश कर्नाड, श्रद्धांजलि

गिरीश कर्नाड, श्रद्धांजलि

लगभग 18 साल पहले एक नाटक पढ़ा था “तुगलक”.. एम ए इंग्लिश कोर्स का हिस्सा था.. पोस्ट ग्रेजुएशन कर ही इसलिए रही थी ताकि इस विज्ञान के विद्यार्थी रहे दिमाग का साहित्य से परिचय हो पाए.. कमला दास, nissim ezekiel, मुल्क राज आंनद और गिरीश कर्नाड.. मेरे लिए ये सब […]

by June 10, 2019 Articles

बस मेट्रो सफ़र मुफ़्त

दिल्ली सरकार का एक प्रस्ताव है, बस और मेट्रो में स्त्रियों के लिए मुफ़्त यात्रा का.. इसी विषय में मेरे कुछ विचार “एक लंबे समय से राखी और भाई दूज पर डीटीसी बसों में स्त्रियों के लिए मुफ्त यात्रा का प्रावधान रहा है.. इसका फ़ायदा यकीन मानिए कि उन्हीं औरतों […]

by June 4, 2019 Articles
चाह, अध्याय 3

चाह, अध्याय 3

अपने नाम से प्रोफ़ाइल बनाने में खतरा था। उसने किसी छद्म नाम से आईडी बनाने की सोची, पर जब दिमाग में गंद खेल दिखा रहा हो तो इंसान सोच भी कितना पाए? उसने सिर खुजलाते हुए ज़रा और ज़ोर डाला.. और अचानक से रोहन का चेहरा उसकी नज़रों के सामने […]

by June 2, 2019 Fiction
चाह, अध्याय 2

चाह, अध्याय 2

चाह, अध्याय 2 एक रात विनय यूं ही नेट पर सर्च कर रहा था, सामने कुछ लव कोट्स आए, पढ़े, अच्छे लगे.. वो और खोजने लगा.. प्रेम कविताएं दिखीं, सोशल साइट्स पर, इंस्टाग्राम, फेसबुक, सब ओर, शब्द ही शब्द। प्रेम के अहसास में डूबे, कहीं सूफियाना तो कहीं रूमानी। वो […]

by June 2, 2019 Fiction
Princess Margaret with Tony

चाह, अध्याय 1

एक छोटी सी कहानी लिखनी शुरु की है, देखिए कहां तक जाती है 🙂 एक आम आदमी के अंदर के घटियापन को बाहर लाती ये कहानी, आपको भी किसी न किसी का ध्यान तो दिलाएगी.. अगर आपको पसंद आए और कुछ कहना चाहें तो बताइएगा ज़रूर.. आपके सुझाव मेरे लिए […]

by June 2, 2019 Fiction
चर्नोबिल, पहली नज़र में

चर्नोबिल, पहली नज़र में

1986, रूस का एक शहर, चर्नोबिल, न्यूक्लियर रिएक्टर में विस्फोट.. रंग बिरंगी लपटें.. ब्रिज के दूसरी ओर खड़े होकर, चमकती राख का लुत्फ़ उठाते लोग.. बिना ये जाने बूझे कि रंग रेडिएशन की वजह से है.. वो रेडिएशन जो इतना घातक है कि दो ही दिन में उनकी चमड़ी पिघलाकर, […]

by May 29, 2019 Articles
सूरत में हादसा

सूरत में हादसा

सूरत में हुआ हादसा, फिर फिर, ध्यान दिलाता है कि हम अपनी ही जान को लेकर कितने लापरवाह हैं.. चौथी मंज़िल पर जाने के लिए लकड़ी की सीढ़ियां.. सबसे ऊपर एक्स्ट्रा टायर्स का रखा जाना.. और बाहर निकलने का कोई दूसरा सुरक्षित रास्ता न होना.. कितनी बार यही गलतियां दोहराई […]

by May 25, 2019 Articles