Review

The Curious Case of Benjamin Button Movie

The Curious Case of Benjamin Button Movie

Clockwise या anticlockwise? घड़ी की सुइयों से दिशा निर्धारण करना कितना सरल लगता है न! पर क्या हो अगर कोई घड़ी उल्टी चल पड़े, क्या ज़िन्दगी भी उसके संग उलट जाएगी? क्या हो अगर आप बूढ़े पैदा हों, और प्रकृति को धत्ता बताते, धीरे धीरे जवान होते हुए बच्चे बन […]

by April 30, 2018 Review
Mukti Bhawan Movie

Mukti Bhawan Movie

“मुझे अजीब सपने आते हैं, यकीनन मेरा अंत समय नज़दीक आ गया है, मैं कल बनारस चला जाऊँगा, मोक्ष तो वहीं मिलेगा” ये कहकर, रिटायर्ड टीचर/लेखक/कवि दया कुमार (ललित बहल), अपने जन्मदिन पर केक काट कर और गौ दान करके, मुक्ति भवन जाने की ज़िद पकड़ लेते हैं… बेटे राजीव […]

by April 17, 2018 Review
Masaan Movie

Masaan Movie

“कपाल पर ज़ोर से पांच बार मारिए, आत्मा को मुक्ति मिलेगी” कलेजा कैसे कांपता है न ये सुनकर.. पर वो क्या करे, जिसके घर का चूल्हा ही श्मशान की आग से जलता हो.. जो रोज़ जिस्मों को राख में बदलते देखता हो.. जिसे मालूम हो कि ये चमड़ी कितनी कच्ची […]

by March 25, 2018 Review
The Other Way by Imtiaz Ali

The Other Way by Imtiaz Ali

अभी अभी एक पोस्ट पढ़ी इम्तियाज़ अली की शॉर्ट मूवी “The Other Way” के बारे में.. देखने की उत्सुकता हुई और 14 मिनट की ये फिल्म youtube पर झटपट देख भी अाई.. कला और सिनेमा को अपनी बात कहने का पूरा हक है…. अक्सर लगता है कि आर्टिस्ट्स ही समाज […]

by March 22, 2018 Review
Rajnigandha Movie

Rajnigandha Movie

सोचा था आज सुबह से बहुत बोल चुकी, अब ज़रा दोस्तों को आराम करने दूं.. पर कुछ देर पहले रजनीगंधा देखी.. और अभी अभी Sanjay जी की लिखी रोबोट और इंसान की प्रेम कहानी पढ़ी.. दोनों बातें जुड़ी सी महसूस हुईं, मानो एक्शन और रिएक्शन.. पहले बात करते हैं रजनीगंधा […]

by March 12, 2018 Articles, Review
Bhumika Movie Review

Bhumika Movie Review

जब भी लाइब्रेरी में किताबें लेने जाती, शेल्फ पर सरसरी निगाह डालती और यक ब यक किसी एक पर मन अटक जाता और फिर महसूस होता कि मैंने नहीं किताब ने मुझे ढूंढ़ लिया है… आजकल कुछ यही हाल फिल्मों का हो चला है… एक दोस्त के परामर्श पर “किनारा” […]

by February 20, 2018 Review
गुलज़ार की रावी पार

गुलज़ार की रावी पार

कल किंडल पर यूं ही टकरा गई थी “रावी पार” से.. गुलज़ार की किताब है, नज़्में होंगी, ये सोच, बिना पन्ने पलटे ही झट डाउनलोड कर ली.. पर जैसे ही पढ़ने बैठी, समझ में आया कि अरे, ये तो कहानियां हैं, गुलज़ार की कहानियां… पहले पढ़ी नहीं कभी.. फिर मन […]

by February 18, 2018 Review
Mausam Movie (1975)

Mausam Movie (1975)

वादा, छोटा सा शब्द, पलक झपकाते ज़ुबां से फिसल जाता है, पर न निभाने का ख़ामियाज़ा कितना संगीन हो सकता है, शायद ही कभी किसी ने सोचा हो.. शायद इसलिए, क्योंकि वादा खिलाफी का असर अक्सर सालों बाद जो दिखता है, वो भी परोक्ष रूप से… कुछ ऐसे ही भूले […]

by February 16, 2018 Review