Articles

Malgudi Days TV Serial

Malgudi Days TV Serial

Do you remember watching Malgudi Days, eons ago, when Doordarshan was the only source of entertainment and television synonymous with limited dose of Chitrahar and a Sunday Movie? Well, the choices were limited and perhaps we were so devoid of options that we hurriedly devored, whatever Doordarshan decided to shower […]

by June 20, 2018 Articles
आंनदी गोपालराव जोशी, पहली महिला डॉक्टर

आंनदी गोपालराव जोशी, पहली महिला डॉक्टर

आज की भागदौड़ भरी दुनिया में शायद ही कोई हो, जो बिना दवा या डॉक्टर के गुज़ारा कर सके… या यूं कहें कि अगर आज हम में से ज़्यादातर लोग, एक लम्बी उम्र तक जीने के काबिल हुए हैं, तो ये मेडिकल साइंस में हुई आश्चर्यजनक प्रगति का ही नतीजा […]

by March 31, 2018 Articles
गर्मियां

गर्मियां

कहने को तो अभी मार्च ही चल रहा है, पर दिल्ली की गरम सनसनाती हवा और चौंधियाता सूरज, मुझे बचपन की मई जून वाली छुट्टियां याद दिला रहे हैं…लू के थपेड़े, स्कूल से निजात दिलाते और नंदन, चंपक के सुनहरे दिन बरबस चले आते… होमवर्क करने का ख्याल तो मुझे […]

by March 30, 2018 Articles, Fiction, Fursat ke Pal
Rajnigandha Movie

Rajnigandha Movie

सोचा था आज सुबह से बहुत बोल चुकी, अब ज़रा दोस्तों को आराम करने दूं.. पर कुछ देर पहले रजनीगंधा देखी.. और अभी अभी Sanjay जी की लिखी रोबोट और इंसान की प्रेम कहानी पढ़ी.. दोनों बातें जुड़ी सी महसूस हुईं, मानो एक्शन और रिएक्शन.. पहले बात करते हैं रजनीगंधा […]

by March 12, 2018 Articles, Review
गया और फल्गु नदी

गया और फल्गु नदी

गया का नाम बहुत सुना था पर आज मालूम पड़ी एक गज़ब बात… यहां फल्गु, नाम की एक ऐसी नदी है, जो सतह पर सिर्फ और सिर्फ बालू का ढेर है और ज़मीन से कुछ फीट नीचे, पानी से लबालब.. छ्ठ में इस सूखे रिवर बेड में छोटे छोटे कुंड […]

by March 9, 2018 Articles
हाथी दांत पर उकेरे बुद्ध के जीवन दृश्य

हाथी दांत

कुछ समय पहले National Museum गई थी… वहां हाथी दांत (Ivory) की बनी चीज़ों का अच्छा खासा कलेक्शन दिखा.. एक पूरा कमरा, सिर्फ और सिर्फ हाथी दांत से बनी कलाकृतियों को समर्पित… ज्वैलरी बॉक्स, पादुका, छोटी छोटी मूर्तियों से लेकर मन्दिर और सिंहासन के पाये तक… उन पर की हुई […]

by March 5, 2018 Articles
वेदना

वेदना

असंवेदनाओं का दौर है….. मैं सालों तक खुशवंत सिंह की Train to Pakistan पढ़ना अवॉयड करती रही.. डरती थी कि कहीं सेंसेशनलिज्म के नाम पर वे हिंदुस्तान पाकिस्तान के बंटवारे को तमाशा न बना दें.. पर फिर उस किताब का 50 वां एडिशन छपा और मैं अपनी जिज्ञासा रोक न […]

by February 27, 2018 Articles
Sridevi Dies at 54, and yet is alive forever

Sridevi Dies at 54, and yet is alive forever

हंसती खिलखिलाती, शरारती आंखों और टेढ़ी मेढी शक्ल बनाती श्रीदेवी किसका दिल न जीत लें भला.. मासूमियत और खूबसूरती का अनोखा मिश्रण था उनमें… और नृत्यांगना तो वे उच्च कोटि की थीं ही.. उनके थिरकते पांव और बुदबुदाते होंठ, जादू सा कर देते.. पर रूप और अदा से कहीं बढ़कर […]

by February 25, 2018 Articles